TIPS FOR ASTHMATIC PATIENTS DURING RAINS IN HINDI

 

बारिश का मौसम जहाँ हर तरह हरियाली और ठंडक ले कर आता है वही कुछ हेल्थ से रिलेटेड प्रोब्लेम्स को भी न्योता देता है। सबसे ज्यादा तकलीफ जिन लोगो को होती है वो है अस्थमा के मरीज।रिमझिम मौसम का मजा अस्थमा के रोगी के लिए सजा बन जाता है। बारिश के इस मौसम में अस्थमा रोगियो की समस्या अक्सर बहुत बढ़ जाती है। कभी कभी रोगी का साँस लेना भी मुश्किल हो जाता है।

इस समस्या से बचने के लिए अस्थमा के मरीजों को क्या क्या सावधानियां बरतनी चाहिए , आईये एक्सपर्ट्स की नजर से देखते हैं।

1.अगर आप अस्थमा के मरीज हैं तो खुली और ताज़ी हवा से बढ़कर आपके लिए कुछ नहीं है।ज्यादा से ज्यादा समय खुली हवा एवं रौशनी मैं बिताना चाहिए। पीने के लिए स्वछ पानी का अधिक से अधिक प्रयोग करें।

2. अस्थमा के रोगी के लिए कुछ आयुर्वेदिक औषधियां रामबाण का काम करती हैं। जैसे अगर अस्थमा के मरीज को एक गिलास दूध में एक चम्मच हल्दी पाउडर मिला कर दिन में दो से तीन बार दिया जाये तो काफी हद तक सांस की तकलीफ को कम किया जा सकता है। पर ध्यान रहे कि इसका इस्तेमाल ख़ाली पेट करना चाहिए।

3. अस्थमा के इलाज में हनी यानि शहद बहुत ही कारगर माना जाता है। शहद को सूंघने मात्र से ही अस्थमा के मरीज काफी रिलीफ मससूस करते हैं।

4. बारिश के मौसम में अस्थमा के मरीजों को हल्का फुल्का भोजन लेना चाहिए। गरिष्ठ भोजन जहाँ पेट की समस्याएं बड़ा सकता है वहीँ सांस लेने में भी परेशानी खड़ी कर सकता है।

5. इस मौसम में अस्थमा के रोगी को खाना कम मात्रा में व् पानी ज्यादा मात्रा में लेना चाहिए।

6. एसिड पैदा करने वाले फूड्स जैसे फैट्स, प्रोटीन या कार्ब्स का इस्तेमाल कम से कम करना चाहिए।

7. नियमित रूप से योग और प्राणायाम अस्थमा के रोगी के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

8. एलर्जिक फूड्स या एलर्जी करने वाली जगहों से अस्थमा के मरीजों को दूर रखें। गर्म पानी पीने से भी सांस की समस्या को काफी हद तक दूर किया जा सकता है।

9. धुल मिटटी अस्थमा के रोगी के लिए जानलेवा हो सकती है और अस्थमैटिक अटैक का कारण बन सकती है। इनसे मरीज को दूर रखें।

10. अस्थमा के मरीज को डॉक्टर की सलाह से अगर जरूरी है तो इनहेलर देते रहें । ये अस्थमा के मरीजों के लिए इंस्टेंट लाइफ सेवर का काम करते हैं। 

अगर आपके पास भी अस्थमा के मरीजों के लिए बारिश के मौसम के लिए कोई जरूरी टिप्स है तो प्लीज कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

Advertisements

IF YOU ARE IN LOVE WITH MANGOES, THEN BE CAREFUL

आम के शौकीनों के लिए एक बुरी खबर है।
अगर आते जाते दुकानों पर रखे आम आप को ललचाते है और आप उन्हें खाने से अपने को रोक नहीं पाते है, तो जरा रुकिए ये पीले पीले रस से भरे आम जिन्हे हम फलों का राजा भी कहता हैं, कुछ लालची व्यापारियों के लालच की वजह से हमें कई गंभीर बिमारियों से ग्रसित कर सकते हैं।


जी हाँ। ये सच है । आजकल आम को जल्दी पका कर मार्किट में बेचने की जल्दी में व्यापारी लोग एक केमिकल का प्रयोग धड़ल्ले से करने लगे है। इस केमिकल का नाम है कार्बाइड।


जी हाँ। कार्बाइड एक ऐसा जहर है, जो हफ्तों में पकने वाले फलो को दिनों में और एक या दो दिन में पकने वाले फलों को कुछ ही घंटो में पका देता है।

लेकिन इन केमिकल से पके आम आपकी सेहत को बड़ा नुक्सान पहुंचा सकते हैं।

एक और नई बात पता चली है क़ि अब चीन से भी इस केमिकल को मंगाया जा रहा है।

चीन से आये कार्बाइड की खासियत है कि एक तो ये देसी कार्बाइड की तुलना में सस्ता पड़ता है , दूसरा चीनी कार्बाइड से पके आम देसी कार्बाइड से पके आमों  की तुलना में एकदम प्राक्रतिक पीले दिखते है।

कस्टमर इन्हे नेचुरल पका समझ कर धोखा खा जाता है और अन्ततः जहर से  भरे इन आमों को खा कर भयंकर बीमारियों को न्योता दे बैठता है।

इस के साथ चीनी केमिकल छोटे छोटे पाउच में आता है जिन्हे फलो में रखना बड़ा आसान होता है।

लेकिन एक बात तो तय है कि आम चाहे देसी कार्बाइड से पके हो या चीनी कार्बाइड से , ये हमारी सेहत के लिए बहुत हानिकारक है। और तो और ये कैंसर जैसी बीमारी का भी कारण बन सकते है।

इन हानिकारक केमिकल से बचने का तरीका।

अब बात आती है कि क्या आम खाना छोड़ दिया जाये? 

 तो ये तो मुमकिन नहीं है।
तो क्यों न कुछ बातो का ध्यान रखा जाये जिससे आम के साथ ये जहर हमारे शरीर में प्रवेश न कर पाए
तो चलिए बताते है।


सबसे पहले कोशिश करे कि ऐसा आम बिलकुल न ख़रीदे जो देखने में चमकदार और  पीला हो पर बहुत कड़ा हो।

ये आम कार्बाइड से पका हो सकता है।

दूसरा आम ऐसी शॉप से ख़रीदे जो क्वालिटी के साथ समझौता नहीं करने के लिए जाने जाते हो। ऐसे दुकानदार कुछ पैसो के लिए अपनी दुकानदारी ख़राब नहीं करते।

अंत में ख़रीदे आमों को दो से तीन घंटो के लिए पानी में छोड़ देना चाहिए ताकि अगर कही कोई कार्बाइड का संदेह है भी तो उनमे से कार्बाइड अच्छी तरह से बाहर  निकल जाये।

और सबसे बड़ी और जरूरी बात आम हमेशा आम के सीजन में ही खरीदें।

क्योकि सीजन से पहले वाले आम शर्तिये कार्बाइड से ही पके होते है।

        

इन छोटी छोटी बातो का ध्यान रख कर हम बिना अपनी सेहत के साथ समझौता किये आम के रस  का स्वाद ले सकते है।

RELYING UPON DIGITAL BLOOD PRESSURE MONITORS AT HOME…………..IS THIS OK?

Don’t Rely Upon Digital Blood Pressure Monitors.

अगर आप भी ऐसे लोगों में से एक हैं जो घर पर ही अपना या अपनों का ब्लड प्रेशर चेक करते है वो भी डिजिटल ब्लड प्रेशर मशीन पर , तो ये जानकारी आपके लिए है।

American journal of hypertension की एक रिपोर्ट के अनुसार , ज्यादातर डिजिटल मशीन्स गलत ब्लड प्रेशर बताती है। इसका मतलब अगर आप आँखे बंद कर के इन रीडिंग्स पर भरोसा करते हैं और अपनी दवा उन रीडिंग्स अनुसार बदलते रहते है तो सावधान हो जाइये। ये जानलेवा हो सकता है।

जब इन मशीन्स की एक्यूरेसी पर एक सर्वे किया गया तो पाया गया कि लगभग 70% मॉनीटर्स की रीडिंग गलत थी। इनमे 5 से 20 पॉइंट्स तक का अंतर पाया गया जो कि किसी मरीज के इलाज़ के लिए बहुत अहमियत रखते हैं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक , दुनिया भर में एक बड़ी परसेंटेज उन हाई ब्लड प्रेशर मरीजों की है जो इन मॉनीटर्स से रोजाना अपना ब्लड प्रेशर जांचते हैं और उन रीडिंग्स के मुताबिक अपनी दिनचर्या और दवाइयां निर्धारित कर लेते हैं।

इन मरीजों को आयुष हेल्थ गुजारिश करता है कि कृपया अपना दैनिक ब्लड प्रेशर किसी अच्छे  चिकित्सक से चेक करवाएं एवंम उसी अनुसार अपनी ब्लड प्रेशर की दवा की मात्रा लें ताकि गलत रीडिंग्स की वजह से ये जानलेवा न साबित हो।

Why high blood pressure is referred as “Silent Killer”.

unnamed

              As per the specialists, even being a dangerous condition, high blood pressure has no significant symptoms until after it has done significant damage to the heart and arteries. That’s why it’s referred as a silent killer. It’s diagnosed when people visit the doctors for some other problems like a headache, loss in eyesight, or problem with their sleep. So if you are not checking your blood pressure regularly. there is no sure way to know if it’s within a healthy range.

As per the data received, every third Indian is suffering from high blood pressure. But many people are unaware that they are suffering from HBP. This has become one of the major reasons for deaths. During the last few years, our lifestyle has been changed completely. Lack of physical activities, more intake of junk food containing a high volume of salts and fats, consumption of alcohols and tobacco have increased the tension levels drastically.

WHAT ACTUALLY BLOOD PRESSURE IS…

When someone has hypertension or high blood pressure, it actually means too much pressure or force put by the blood against the walls of the arteries, when the blood is pumped by the heart, leading to many health problems. If the arteries are narrow or hard with age or if your body carries a lot of water or salt, the blood pressure becomes higher. The result may be the bursting of the arteries if pressure is too high causing internal bleeding and this may lead to death sometimes.

WHAT PARTS OF OUR BODY ARE MOST AFFECTED.

Different parts of our body will suffer in different ways. Firstly, our heart has to work harder when blood pressure is high. The extra effort by the heart can lead to thickening of the heart muscles, making it more difficult to do its job. And that can lead to heart failure. 

       The second most affected organ is our brain. You can say that hypertension or high blood pressure is the top trigger for stroke, in which a blood vessel in the brain bursts and starts bleeding. A blood clot may form and it can block the flow of the blood to the brain leading to stroke and sometimes brain damage and lifelong disability.

       The third organ which is most affected, our kidneys. The blood vessels in these organs may become weak or narrow, and these become less effective at their job of filtering out wastes and fluids from our body. And thus too much water remains in our kidneys will, in turn, raise the blood pressure. And it explains why hypertension is one of the common reasons for kidney failure.

Even our eyes are not immune to high blood pressure. There are tiny eye vessels in our eyes and when these are damaged or blocked, the result is blurred, distorted or lost vision.

Lastly, I would like to say that even hypertension is very dangerous but by following a healthy lifestyle and doing some regular physical activities, one can easily get rid of this deadly problem. Just do regular check-ups and follow your doctor’s instructions.

STAY HEALTHY, STAY HAPPY

 

 

 

 

 

 

AMAZING HEALTH BENEFITS OF GINGER TEA

अदरक(Ginger Root) एक ऐसी औषधि है जो हर भारतीय घर की रसोई की शान है ! हर भारतीय गृहणी अदरक के गुणों के बारे में जानती है इसलिए उसकी हर सब्जी में अदरक जरूर डाली जाती है !
        दोस्तों अदरक की शक्ल या यू कहे कि उसका figure अच्छा नहीं दिखता  लेकिन अचम्भित कर देने वाले गुण उसकी इस कमी को नजर ही नहीं आने देते !
       तो चलिए देखते है अदरक के चमत्कारिक औषधीय गुण हमारे लिए कैसे फायदेमंद है !
* अदरक की तासीर गरम मानी जाती है इसलिए सर्दियों में अदरक की चाय सर्दी जुकाम में रामबाण का काम करती है ! ये न केवल चाय का स्वाद बेहतरीन करती है अपितु अदरक में बहुतायत में पाए जाने वाले तत्व जैसे विटामिन C (Vitamin C), मैग्नीशियम (magnesium) और मिनरल्स (minerals) हमारे शरीर को अंदर से स्ट्रांग(strong) बनाते है !
* अदरक की चाय बनाते हुए अगर इसमें शहद (honey), पुदीना (peppermint leaves), और नीम्बू (lemon) का  प्रयोग भी करते है तो न केवल ये चाय का स्वाद दुगना करते है अपितु ये एक अतिगुणकारी हर्बल चाय बनती है जो हमारी health के लिए अति उत्तम है !
*यात्रा करने से पहले अदरक की चाय पीने से चक्कर और उलटी (nausea & vomitting ) या Travel sickness जैसी समस्या से बचा जा सकता है !

* अदरक पचाने की क्रिया (digestion ) में बहुत सहायक है ! यह पेट में खाने को जल्दी absorb करने में help करती है ! अगर ज्यादा खा लिया है तो अदरक की चाय पेट के फूलने या टाइट होने (bloating of stomach ) में तुरंत फायदेमंद है !
* मासपेशियो और जोड़ो के दर्द और सूजन में अदरक की चाय बहुत ही लाभकारी होती है ! ऐसे में अदरक के गरम पानी की सिकाई भी बहुत ही कारगर है !
* सर्दियों में ठण्ड की वजह से  छाती में बलगम जमा होने की समस्या को अदरक की चाय एक आजमाया हुआ नुस्खा है ! अदरक की एक कप चाय मौसम की वजह से उपजी श्वास सम्बंधित (Respiratory) समस्यायों में बहुत उपयोगी है !
* अदरक एमिनो एसिड्स (amino acids), मिनरल्स (minerals) और विटामिन्स (vitamins) से भरपूर होती है इसलिए अदरक से बनी चाय हमारे खून के बहाव (Blood Circulation) को improve करने में सहायक है और इस तरह से हमें दिल से सम्बंधित समस्यायों से  बचने में भी सहायता करती है ! इस के अलावा अदरक हमारी खून  की धमनियों में वसा को जमने नहीं देती और हमें Heart Attack से भी बचने में सहायक है !
* अदरक के हलके गरम पानी की भीगे तोलिये से पेट के निचले हिस्से की सिकाई से औरतों के  मासिक धर्म के
दर्द में काफी आराम मिलता है ! साथ ही अदरक की चाय शहद के साथ पीने से काफी जल्दी आराम मिलता है !
*एंटीऑक्सीडेंट्स (Antioxidants) से भरपूर अदरक हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में बहुत ही सहायक है ! इस तरह से अदरक की चाय पीने से हमारा शरीर कई तरह की स्वस्थ्य समस्यायों से खुद ही लड़ सकता है वो भी बिना किसी साइड इफेक्ट्स के !
* अरदक की सुगंध (Aroma) अपने आप में एक औषधि का काम करती  है जो हमारे Stress और Tension को दूर भगाती  है !

​लौंग की चाय रोज पीने से होते है कई फायदे।

दोस्तों ! हमारे देश  में चाय एक रोजमर्रा का पेय है जिसे हम लगभग हर रोज दिन में दो से तीन बार जरूर पीते है । ज्यादा चाय जहाँ हमारे शरीर को कई तरह की गैस्ट्रिक प्रॉब्ल्म्स दे सकती है वही कब्ज व् गैस का कारण भी बन सकती है ।लेकिन अगर हम अपनी चाय को एक पोष्टिक पेय बना दे तो न केवल ये हमारी शरीर के लिए फायदेमंद होगी अपितु हमारे शरीर से टॉक्सिन्स ( जहरीले तत्वो ) को भी बाहर  निकलने में हमारी हेल्प कर सकती है वो भी बहुत ही स्वादिष्ठ रूप में ।

तो चलिए देखते है कैसे ?

दोस्तों लौंग में एक यूजेनॉल (eugenol) नामक केमिकल होता है जो कई तरह की हेल्थ प्रोब्लेम्स को ठीक कर सकता है । यह बहुत ही गर्म तासीर वाला हर्ब है इसलिए लौंग  को खाने या फिर इसकी चाय पीने से सर्दी , जुकाम जैसी मौसमी हेल्थ प्रोब्लेम्स बहुत जल्दी ठीक हो जाती है।

BEST USES OF CLOVE 😦 लौंग के पांच सर्वाधिक फायदे )

1. ACIDITY ( पेट की जलन )
        लौंग खाने से मुह में लार ज्यादा बनती है जो खाने को पचाने में मुख्या कार्य करती है जिससे DIGESTION  ठीक रहता है और एसिडिटी नहीं होती ।

२. CARDIAC PROBLEMS ( दिल से संबंधित परेशानिया )
        लौंग खाने से cholesterol level काम होता है और इस तरह से ये हार्ट प्रोब्लेम्स से बचने में helpful है ।
3.  IMMUNITY  (रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता ) 
         लौंग को अपने रोजमर्रा के खाने में शामिल करने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और इस तरह से हम अपने शरीर को कई बीमारियो से बचा सकते है ।
4 .  EYESIGHT ( आँखों की रौशनी )
          लौंग में विटामिन A बहुत अधिक मात्रा में होता है जो हमारे आँखों की रौशनी के लिए बहुत फायदेमंद है ।
5 .  GLOWING SKIN ( चमकती त्वचा )
           चेहरे पर NATURAL GLOW के लिए लौंग की दिन में दो बार चाय पिए और फर्क खुद महसूस करे ।