IF YOU ARE IN LOVE WITH MANGOES, THEN BE CAREFUL

आम के शौकीनों के लिए एक बुरी खबर है।
अगर आते जाते दुकानों पर रखे आम आप को ललचाते है और आप उन्हें खाने से अपने को रोक नहीं पाते है, तो जरा रुकिए ये पीले पीले रस से भरे आम जिन्हे हम फलों का राजा भी कहता हैं, कुछ लालची व्यापारियों के लालच की वजह से हमें कई गंभीर बिमारियों से ग्रसित कर सकते हैं।


जी हाँ। ये सच है । आजकल आम को जल्दी पका कर मार्किट में बेचने की जल्दी में व्यापारी लोग एक केमिकल का प्रयोग धड़ल्ले से करने लगे है। इस केमिकल का नाम है कार्बाइड।


जी हाँ। कार्बाइड एक ऐसा जहर है, जो हफ्तों में पकने वाले फलो को दिनों में और एक या दो दिन में पकने वाले फलों को कुछ ही घंटो में पका देता है।

लेकिन इन केमिकल से पके आम आपकी सेहत को बड़ा नुक्सान पहुंचा सकते हैं।

एक और नई बात पता चली है क़ि अब चीन से भी इस केमिकल को मंगाया जा रहा है।

चीन से आये कार्बाइड की खासियत है कि एक तो ये देसी कार्बाइड की तुलना में सस्ता पड़ता है , दूसरा चीनी कार्बाइड से पके आम देसी कार्बाइड से पके आमों  की तुलना में एकदम प्राक्रतिक पीले दिखते है।

कस्टमर इन्हे नेचुरल पका समझ कर धोखा खा जाता है और अन्ततः जहर से  भरे इन आमों को खा कर भयंकर बीमारियों को न्योता दे बैठता है।

इस के साथ चीनी केमिकल छोटे छोटे पाउच में आता है जिन्हे फलो में रखना बड़ा आसान होता है।

लेकिन एक बात तो तय है कि आम चाहे देसी कार्बाइड से पके हो या चीनी कार्बाइड से , ये हमारी सेहत के लिए बहुत हानिकारक है। और तो और ये कैंसर जैसी बीमारी का भी कारण बन सकते है।

इन हानिकारक केमिकल से बचने का तरीका।

अब बात आती है कि क्या आम खाना छोड़ दिया जाये? 

 तो ये तो मुमकिन नहीं है।
तो क्यों न कुछ बातो का ध्यान रखा जाये जिससे आम के साथ ये जहर हमारे शरीर में प्रवेश न कर पाए
तो चलिए बताते है।


सबसे पहले कोशिश करे कि ऐसा आम बिलकुल न ख़रीदे जो देखने में चमकदार और  पीला हो पर बहुत कड़ा हो।

ये आम कार्बाइड से पका हो सकता है।

दूसरा आम ऐसी शॉप से ख़रीदे जो क्वालिटी के साथ समझौता नहीं करने के लिए जाने जाते हो। ऐसे दुकानदार कुछ पैसो के लिए अपनी दुकानदारी ख़राब नहीं करते।

अंत में ख़रीदे आमों को दो से तीन घंटो के लिए पानी में छोड़ देना चाहिए ताकि अगर कही कोई कार्बाइड का संदेह है भी तो उनमे से कार्बाइड अच्छी तरह से बाहर  निकल जाये।

और सबसे बड़ी और जरूरी बात आम हमेशा आम के सीजन में ही खरीदें।

क्योकि सीजन से पहले वाले आम शर्तिये कार्बाइड से ही पके होते है।

        

इन छोटी छोटी बातो का ध्यान रख कर हम बिना अपनी सेहत के साथ समझौता किये आम के रस  का स्वाद ले सकते है।